Hindi anuched lekhan for class 8. Mehangai “महँगाई” Hindi Essay 250 Words, Best Essay, Paragraph, Anuched for Class 8, 9, 10, 12 Students. 2022-10-17

Hindi anuched lekhan for class 8 Rating: 9,9/10 1361 reviews

Hindi Anuched Lekhan is a writing exercise that is commonly assigned to students in Class 8 in Indian schools. The purpose of this exercise is to help students develop their writing skills in Hindi, the national language of India.

Anuched Lekhan involves writing a paragraph or essay on a given topic. The topic can be anything from a current event to a personal experience. Students are expected to express their thoughts and ideas clearly and coherently in Hindi, using proper grammar and vocabulary.

One of the key skills that Anuched Lekhan helps students develop is their ability to organize their thoughts and ideas. Before writing, students are required to brainstorm and come up with a list of points that they want to include in their essay. They must then arrange these points in a logical order, with the most important points coming first. This helps students to present their ideas in a clear and coherent manner.

Another important skill that Anuched Lekhan helps students develop is their ability to express themselves in writing. Many students struggle with writing in Hindi, as it is not their first language. Anuched Lekhan helps students to improve their vocabulary and grammar, as well as their ability to construct sentences and paragraphs. It also helps students to develop their writing style and to find their own voice as writers.

In conclusion, Hindi Anuched Lekhan is an important exercise that helps students to develop their writing skills in Hindi. It helps students to organize their thoughts and ideas, express themselves clearly and coherently, and find their own voice as writers. This exercise is an essential part of the Hindi curriculum in Class 8, and is essential for helping students to communicate effectively in the national language of India.

RBSE Class 8 Hindi रचना संवाद

hindi anuched lekhan for class 8

क्या चोरों को सरदी नहीं लगती जो वे इस कंपकंपाने वाली सरदी में चोरी करने घर से निकलेंगे! Besides explaining types of अनुच्छेद - लेखन - खण्ड, हिंदी, कक्षा - 8 theory, EduRev gives you an ample number of questions to practice अनुच्छेद - लेखन - खण्ड, हिंदी, कक्षा - 8 tests, examples and also practice हिंदी , Summary , हिंदी , Exam , ppt , practice quizzes , past year papers , shortcuts and tricks , Important questions , Objective type Questions , mock tests for examination , pdf , MCQs , video lectures , Sample Paper , हिंदी , study material , अनुच्छेद - लेखन - खण्ड , कक्षा - 8 - Notes Study कक्षा - 8 हिन्दी Class 8 Hindi by VP Classes - Class 8 , अनुच्छेद - लेखन - खण्ड , कक्षा - 8 - Notes Study कक्षा - 8 हिन्दी Class 8 Hindi by VP Classes - Class 8 , Viva Questions , कक्षा - 8 - Notes Study कक्षा - 8 हिन्दी Class 8 Hindi by VP Classes - Class 8 , Semester Notes , अनुच्छेद - लेखन - खण्ड , Previous Year Questions with Solutions , Free , Extra Questions;. कसी विषय, वाक्य या सूक्ति के बारे में अपने विचार लिपिबद्ध् करना अनुच्छेद-लेखन कहलाता है। एक अनुच्छेद में एक ही भाव या विचार को विस्तारपूर्वक लिखा जाता है। दैनिक जीवन का कोई विषय, अनुभव या आस-पास की घटना को अनुच्छेद-लेखन का विषय बनाया जा सकता है। इसमें वाक्य छोटे-छोटे होने चाहिए तथा इनमें परस्पर संबंध होना चाहिए। अनुच्छेद लिखते समय शब्द-सीमा का ध्यान अवश्य रखना चाहिए। सामान्यतया 100 शब्दों में लिखा हुआ अनुच्छेद अच्छा माना जाता है। अनुच्छेद इस तरह लिखना चाहिए कि पढ़नेवाला उत्सुकतापूर्वक पढ़े। अनुच्छेद-लेखन के बाद एक बार उसे अवश्य पढ़ लेना चाहिए ताकि अशुद्ध्यिाँ दूर की जा सकें। कुछ अनुच्छेदों के उदाहरण नीचे दिए जा रहे हैं। उन्हें पढ़कर समझिए और मनपसंद विषय चुनकर अपने शब्दों में अनुच्छेद लिखने का अभ्यास कीजिए। 1. राजेंद्र प्रसाद ने भारत को गणतंत्र घोषित किया। उस दिन सी. Writing stories is an art and it is interesting to write a story by own. अपने विद्यालय में खेल का सामान मँगवाने के लिए प्रधानाचार्या को पत्र लिखिए। सेवा में, प्रधानाचार्या महोदया, डी. प्रतिघंटा तक सिमट गई है? छात्र और प्राचार्य के मध्य संवाद 2.


Next

Hindi Essay, Paragraph on “Anushasan”, “अनुशासन”, Hindi Anuched, Nibandh for Class 5, 6, 7, 8, 9 and Class 10 Students, Board Examinations.

hindi anuched lekhan for class 8

ADVERTISEMENTS: List of popular essays for Class 8 students in Hindi Language! अपने विद्यालय के प्रधानाचार्य को आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए पत्र लिखिए। सेवा में प्रधानाचार्य महोदय क, ख, ग, विद्यालय ………. अनुशासन Anushasan अनुशासन शब्द का अर्थ है किसी विशेष नियम के अनुसार कार्य करना। अपने को वश में करना अनुशासन कहलाता है। वैज्ञानिक दृष्टि से प्रकृति की गतिविधि को देखने से स्पष्ट हो जाता है कि प्रकृति भी विशेष नियम और बन्धन से क्रियाशील रहती है, नित्य प्रति सूर्य का उदय और अस्त होना, ऋतुओं का परिवर्तन इस तथ्य के प्रमाण हैं। स्पष्ट है कि अनुशासित और नियमित व्यवहार सुखदायी होता है। कुछ लोगों का विचार है कि माता-पिता और गुरुओं की आज्ञा का पालन करना भी अनुशासन में गिना जाता है। नियमपूर्वक जीवन बिताना अर्थात् समय पर सोना, समय पर जागना, समय पर भोजन करना, समय पर सैर करना, समय पर खेलना, समय पर स्कूल जाना आदि अनुशासन में ही गिने जाते हैं अध्यापक के अनुशासित चरित्र से विद्यार्थी अध्यापक को सम्मान ही नहीं देता है अपितु उसे अपना आदर्श भी मानता है। किसी भी व्यक्ति के लिए अनुशासन सदैव लाभदायक ही होता है। विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के बिना सफल जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। आज देखने में आता है कि समाज के प्रत्येग वर्ग में अनुशासनहीनता घर किए हुए है। इसका पहला कारण माता-पिता है जो आरम्भ से ही बच्चों को अनुशासन की शिक्षा नहीं देते। अनुशासनहीनता का दूसार बड़ा कारण हमारी शिक्षा प्रणाली है। आज स्कूलऔर कॉलजों में पढ़ने वाले विद्यार्थी स्वयं ही अपने विद्यालय के भवन को आग लगाते हैं और तोड़-फोड़ करते हैं। यह स्थिति चिन्तनीय है। देश की सम्पत्ति को नष्ट करने का अर्थ स्वयं को ही नष्ट करना है। अनुशासन प्रत्येक मानव और प्रत्येक प्राणी के लिए आवश्यक है। इससे शान्ति बनी रहती है और समाज समृद्धि की ओर अग्रसर होता है।. पुनः प्रवेश हेतु प्रधानाचार्या को पत्र लिखिए। सेवा में, प्रधानाचार्या महोदया, रा. मोबाइल फोन विज्ञान ने मनुष्य के जीवन में अनेक सुख-सुविधएँ प्रदान की हैं। मानव जीवन में सुविध बढ़ाने वाला एक ऐसा ही साध्न है - मोबाइल फोन। किसी समय की कल्पना आज सचमुच साकार हो उठी है। यह ऐसा साध्न है, जिसकी मदद से कहीं दूर रहकर भी अपने प्रिय से बातें की जा सकती हैं। इसमें न तार टूटने का झंझट, न तार जोड़ने का। दिन-प्रतिदिन इसका आकार सुंदर और छोटा होता जा रहा है, साथ ही इसमें खूबियाँ बढ़ती ही जा रही हैं। कल तक जिस मोबाइल फोन का उपयोग सिर्फ बातें करने के लिए होता था। आज उसमें पूरा आॅफ़ीस समाया दिखता है। फोटो खींचना है या समय जानना है, गाने सुनना है या मनचाही पिफल्म का आनंद लेना है या इंटरनेट से कोई जानकारी लेनी है, सभी का एकमात्रा हल है आधुनिक गुणवत्ता वाला मोबाइल फोन। आज आवश्यकता है इसके विवेकपूर्ण उपयोग की, क्योंकि कुछ लोग इसका गलत प्रयोग करते हैं। हमें इसका सदुपयोग करना चाहिए ताकि यह मनुष्य के लिए वरदान बना रहे। 4. Contents are free to use online or download in PDF file format. प्रिय मित्र रोहन सस्नेह नमस्कार कल शाम को तुम्हारा मित्र मिला। यह जानकर बड़ा दुख हुआ कि तुम्हारे पूज्य दादा जी को अचानक निधन गत सप्ताह हो गया। यह सुनकर मैं स्तब्ध रह गया। मुझे इस समाचार पर सहसा विश्वास नहीं हुआ। पिछले महीने जब मैं तुम्हारे यहाँ आया था तब वे कितने प्रसन्नचित एवं स्वस्थ लग रहे थे। उन्होंने उपहार के तौर पर एक कलम भी दिया था। वह कलम सदैव उनकी स्मृति बनकर मेरे पास रहेगा। ईश्वर से मेरी प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को सद्गति और तुम्हें एवं तुम्हारे परिवारजनों को यह दुख सहने की शक्ति एवं धैर्य प्रदान करे। मित्र, ईश्वर की लीला बड़ी विचित्र है। उनकी मरजी पर किसी का ज़ोर नहीं। जीवन-मरण उनके साथ ही में है। मैं तुमसे मिलने अवश्य आऊँगा। तुम्हारा अभिन्न मित्र राकेश 6.

Next

CBSE Class 8 Hindi पत्र लेखन

hindi anuched lekhan for class 8

अपने विद्यालय की वाद-विवाद प्रतियोगिता में भाग लेने की अनुमति के लिए प्रधानाचार्य को प्रार्थना पत्र लिखिए। श्रीमान् प्रधानाचार्य महोदय ……… विद्यालय ………. नई दिल्ली । विषय — पुस्तकालय में हिंदी पत्रिकाएँ मँगवाने हेतु।। महाशय निवेदन है कि हमारे विद्यालय के पुस्तकालय में ज्ञान-विज्ञान व खेल संबंधी हिंदी की पत्रिकाओं का अभाव है। यहाँ पर अंग्रेज़ी की अनेक पत्रिकाएँ आती हैं लेकिन कई बच्चे अंग्रेज़ी नहीं समझते। अतः आप से अनुरोध है कि पुस्तकालय में क्रिकेट सम्राट, प्रतियोगिता दर्पण, विज्ञान प्रगति, नंदन आदि हिंदी की पत्रिकाएँ नियमित रूप से मँगवाई जाएँ, ताकि अधिक से अधिक छात्र ज्ञान छात्र ज्ञान ग्रहण कर सकें। आशा है आप मेरी माँग पूरी करेंगे। धन्यवाद भवदीय क ख ग दिनांक …… 4. की शाखा में वरिष्ठ लिपिक पद पर कार्यरत था। मेरी पदोन्नति होने के साथ ही मेरा स्थानांतरण दिल्ली स्थित आनंद विहार शाखा में हो गया। गत सप्ताह से मैंने कार्यभार ग्रहण कर यहीं आनंद विहार के पास रहना शुरू कर दिया है। मेरे पुत्र राजीव ने इसी सत्र अर्थात् 2010 में उ. । विषय-चरित्र प्रमाण पत्र हेतु। महोदया, निवेदन यह है कि मैं इस विद्यालय में 2010 में IX कक्षा की छात्रा रही हूँ। अब मेरे पिता जी का स्थानांतरण नोएडा से जनकपुरी दिल्ली में हो गया है। मुझे जनकपुरी स्थित विद्यालय में प्रवेश लेना है। प्रवेश हेतु आवेदन पत्र के साथ चरित्र प्रमाण पत्र भी आवश्यक है। मैं पढ़ाई के साथ-साथ पाठ्य सहगामी क्रियाओं में भी सक्रिय भाग लेती रही हूँ। मैं कबड्डी टीम की कप्तान रही हूँ। मैंने वाद-विवाद प्रतियोगिता में पुरस्कार भी जीता है। आपसे प्रार्थना है कि मुझे चरित्र प्रमाण पत्र प्रदान करने की कृपा करें जिसमें शैक्षिक एवं अन्य सहगामी क्रियाओं का उल्लेख किया गया हो। सधन्यवाद। आपकी आज्ञाकारिणी शिष्या। आकांक्षा मौर्या X-A, अनुक्रमांक 08 05 जुलाई, 20XX 9. ने वर्ष 2013 में लगभग 350 आतंकी हमले किए। अभी हाल ही में 15 नवंबर, 2015 को पेरिस में हुए आतंकी हमले में 130 से अधिक लोगों के मारे जाने की सूचना है। इसको इसी आतंकी संगठन द्वारा अंजाम दिया गया है। इस आतंकी संगठन ने पूरे विश्व को आतंकित कर दिया है। अमेरिका, रूस समेत विश्व की कई बड़ी शकि तयाँ इस आतंकी संगठन को समाप्त करने के लिए लगातार सीरिया में बमबारी कर रही हैं और आई.

Next

Class 8 Hindi Grammar Chapter 26 Anuchchhed Lekhan (CBSE 2022

hindi anuched lekhan for class 8

किसी छात्र को सम्मानित करने हेतु विद्यालय की प्रधानाचार्या को अनुरोध पत्र लिखिए। सेवा में, प्रधानाचार्या महोदया, डी. Some sample stories are given below, so that students can take an idea about how to write a story. महँगाई Mehangai देश इस समय भयानक महँगाई के दौर से गुजर रहा है। यों तो देश की आजादी के साथ ही महँगाई बढ़नी शुरू हो गई थी पर इतनी अधिक नहीं थी। इस समय तो इतनी तेजी से महँगाई बढ़ रही है कि गरीब आदमी को जीवन जीना कठिन होता जा रहा है। रोटी कपड़ा और मकान सब महँगे हो गए हैं। आना-जाना महँगा हो गया है। अमीरों को तो इस महँगाई से फर्क पड़ने वाला नहीं क्योंकि साधन संपन्न हैं। अधिक परेशानी गरीबी रेखा के नीचे बसने वालों को है। आटा, चावल, दाल, मसाले, ईंधन, कपड़ा, सब्जी सब महँगी हैं। जितनी तेजी से महँगाई बढ़ रही है उतनी तेजी से वेतन नहीं बढ रहा है। ऐसे में बहुत से लोगों को गलत काम करना पड़ रहा है। संस्कृत में एक कहावत है कि बुभुक्षितः कथं न करोति पापम्। बढ़ती महँगाई गरीबी में जीने वालों को बड़ा से बड़ा पाप करने के लिए मजबूर कर रही है। रोज वित्तमंत्री महँगाई कम करने के बयान देते नज़र आते हैं लेकिन उनके बयानों का महँगाई पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। अभी हाल में केन्द्र सरकार ने योजना बनाई है कि विदेशों में दलहन उगाने के प्रयास किए जाएंगे। इसका कब असर होगा, कौन जानता है? यात्री और बस संवाहक के मध्य संवाद. We have prepared the contents according to CBSE Syllabus as well as State board syllabus with examples and explanation. If you have any query regarding CBSE Class 8 Hindi पत्र लेखन, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

Next

Class 8 Hindi Grammar Chapter 28 Kahani Lekhan (For CBSE 2022

hindi anuched lekhan for class 8

पब्लिक स्कूल, गौतम बुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश। विषय — छात्रा को सम्मानित करने हेतु पत्र। महोदय, निवेदन है कि तृषा चौधरी हमारे विद्यालय की ऐसी प्रतिभाशालिनी छात्रा है, जिसने तैराकी-प्रतियोगिता में अनेक मैडल प्राप्त कर विद्यालय की उपलब्धियों में वृद्धि की है। इतना ही नहीं, वह अदम्य उत्साह से भरपूर है। एक दिन प्रातः काल वह अपने पिता जी के साथ दिल्ली स्थित किसी तरणताल में अभ्यास के लिए आ रही थी। वह पिता जी से अपनी तैराकी के अभ्यास और उपलब्धियों के बारे में बात करने में मग्न थी। तभी सड़क पर एक घायल व्यक्ति को चीखते-कराहते हुए देखा। कोई वाहने उसे टक्कर मारकर भाग गया था। उस घायल की चीख सुनकर पिता जी से कार रुकवाकर उसे अस्पताल पहुँचाया और घायल व्यक्ति की जेब से परिचय-पत्र निकाल, उस पर लिखे पते के माध्यम से उसके घरवालों को सूचित किया। तृषा के इस मानवीय कार्य की अखबारों ने भूरि-भूरि प्रशंसा की है, उसका चित्र भी छपा है। महोदया, तृषा हमारे लिए प्रेरणामयी छात्रा है, जिसमें मानवता-करुणा कूट-कूट कर भरी हुई है। उसने तैराकी में भी विद्यालय को नई ऊँचाइयों तक पहुँचाया है। अपनी कक्षा की ओर से आपसे अनुरोध है कि संपूर्ण विद्यालय के सामने उसके इस कृत्य की सराहना करते हुए सम्मानित और पुरस्कृत करें जिससे हम सभी छात्रों को प्रेरणा मिले तथा तृषा के इस मानवीयपूर्ण कार्य से कुछ सीख सकें। सधन्यवाद। प्रार्थिनी, आकांक्षा X-अ, अनुक्रमांक…… 20 अगस्त, 20XX 10. वनों का महत्व प्रकृति और मनुष्य का संबंध् आदिकाल से रहा है। अपने जीवन-यापन के लिए वह सदा से ही प्रकृति पर आश्रित रहा है। वनों में उसे आश्रय तो मिला ही, साथ ही पेट की क्षुध शांत करने के लिए फल तथा तन ढँकने के लिए पेड़ की छालें तथा पत्तियाँ भी मिलीं। सभ्यता की ओर बढ़ने के साथ मनुष्य ने इन वनों की उपेक्षा और इनकी अंधाधुंध कटाई शुरू कर दी। वनों से हमें जीवनदायिनी हवा मिलती है। ये हमें विभिन्न कार्यों के लिए बहुमूल्य लकड़ियाँ देते हैं। इसके अलावा ये फल, दवाइयाँ, हरियाली तथा जंगली पशु-पक्षियों को आश्रय भी देते हैं । वन वर्षा लाने में सहायक हैं । ये हमारी ध्रती की उर्वरायुक्त ऊपरी परत को कटकर बह जाने से रोकते हैं, जिससे ध्रती उर्वर बनी रहती है। ये बाढ़ रोकने में सहायक हैं । ये प्राणियों द्वारा त्यागी विषाक्त गैसों का भक्षण करके उन्हें ताशी हवा देते हैं, जिससे वे जीवित रहते हैं । सच ही कहा गया है - वन रहेंगे तभी हम रहेंगे। 5. परिश्रम की महिमा परिश्रम सफलता की कुंजी है। यह सभी प्रकार की उपलब्धि तथा सफलता का आधार है। परिश्रमी व्यक्तियों ने मानव जाति के उत्थान में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। परिश्रम से कठिन से कठिन काम भी आसान हो जाता है। मेहनत से जी चुराने वाला व्यक्ति आलसी बन जाता है। उसे जीवन में किसी प्रकार का लाभ नहीं होता। उसमें कार्य के प्रति उमंग, उत्साह और जोश नहीं होता। परिश्रमी व्यक्तियों ने वैज्ञानिक उन्नति में अपनी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभायी है। अपने परिश्रम के बलबूते मनुष्य अंतरिक्ष में जा चुका है। परिश्रमी व्यक्ति ही सदैव सफलता प्राप्त करता है। अतः हमें सभी कार्य सदैव परिश्रमपूर्वक करना चाहिए। 4. Class 8 Hindi Grammar Chapter 28 कहानी लेखन Kahani Lekhan. तुम्हारा पत्र प्राप्त हुआ। पढ़कर मालूम हुआ कि तुम अपने जन्मदिन के उत्सव पर मुझे आमंत्रित करना चाहते हो। मैं इस शुभ अवसर पर अपनी हार्दिक शुभकामनाएँ देता हूँ और ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि तुम जियो हजारों साल। प्रिय मित्र! प्रधानाचार्य को पत्र लिखिए जिसमें पुस्तकालय में कुछ और हिंदी पत्रिकाएँ मँगवाने के लिए निवेदन किया गया हो। सेवा में प्रधानाचार्य ……….


Next

Class 8 Hindi Grammar Chapter 31 Patr Lekhan (Letter Writing)

hindi anuched lekhan for class 8

परीक्षा के दिन प्राचीन काल से ही परीक्षा की परंपरा चली आ रही है। ज्यों-ज्यों परीक्षा निकट आती है, त्यों-त्यों धड़कन तेज़ हो जाती है। हर काम में जल्दी लगी रहती है। परीक्षा हमें शत्रु की तरह दिखाई देती है। तनाव के कारण छात्रों को रातों में नींद नहीं आती। दिल काफ़ी बेचैन रहता है। चिंताएँ लगातार बनी रहती हैं। हर समय नींद में कापी और किताबों का सपना आता रहता है। यहाँ हमेशा भय बना रहता है कि कोई विषय में कमी न रह जाए। मानसिक तनाव में रहता है। जिनकी पूरी तैयारी रहती है वे तनावयुक्त रहते हैं। बच्चे सोचते है काश! हमारा देश भारत हम जिस पावन देश के निवासी हैं, उसका नाम भारत है। यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य अनुपम है। देश की उत्तरी सीमा पर स्थित हिमाच्छादित हिमालय इसका मुकुट है। दक्षिण में विशाल समुद्र इसके चरणों को धेता है। गंगा-यमुना, घाघरा आदि नदियाँ इसके वक्षस्थल पर हार के समान सुशोभित होती हैं। गंगा-यमुना के उपजाऊ मैदानों में लहराती फसलें, बाग-बगीचों में फल-फूलों से लदे वृक्ष इसकी समृद्धि तथा सौंदर्य में वृद्धि करते हैं। छह ऋतुओं का चक्र यहाँ आता-जाता रहता है, जो इसे स्वर्ग के सदृश मनोरम बनाती हैं। देश के उत्तरी भाग में स्थित कश्मीर की मनोहारी घाटियाँ, के सर की क्यारियाँ, डल झील, निशात झील, सेब तथा विभिन्न फलों से लदे बागों को देखकर यही लगता है कि सचमुच ध्रती का स्वर्ग यही है। यही वह देश है जहाँ राम, कृष्ण, गौतम बुद्ध्, नानक, देव आदि महापुरुषों ने जन्म लिया है। मुझे अपने देश पर गर्व है। 2. . डाकिए की डाक बाँटने के लिए अनियमितता की शिकायत। सेवा में डाकपाल महोदय अंकुर विहार डाकखाना लोनी, गाजियाबाद। विषय — डाकिए की डाक बाँटने की अनियमितता के विषय में पत्र महोदय सविनय निवेदन यह है कि हमारे क्षेत्र अंकुर विहार गाजियाबाद में गत पाँच-छह महीने से डाक वितरण अनियमितता से स्थानीय निवासी परेशान हैं। इस क्षेत्र में प्रतिदिन डाक वितरण नहीं होता। डाकिए सप्ताह में केवल एक या दो बार आते हैं तथा मुहल्ले के गेट पर खड़े चौकीदारों को सभी पत्र थमा कर चले जाते हैं। कई बार पत्र गलत पते पर डालकर चले जाते हैं जिससे और भी अधिक परेशानी उठानी पड़ती है। जरूरी डाक तथा तार समय पर न मिलने से कई लोगों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा तथा कुछ बच्चों के दाखिले भी नहीं हो पाए। ये सभी डाकिए त्योहार पर रुपए माँगने तो आ जाते हैं पर डाक देने नहीं। किसी-किसी ने तो मनी आर्डर की राशि भी पूरी न मिलने की शिकायत की है। आशा है आप उक्त अनियमितताओं को दूर करने के लिए उचित कार्यवाही करेंगे। धन्यवाद भवदीय आयुष रंजन तिवारी 5. शेषन की पहल पर मतदाता पहचान पत्र जारी किए गए, चुनावों में पारदर्शित लाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन ई. Practice format for formal and informal letters are given here to provide a better practice of पत्र लेखन in Hindi Vyakaran for class 8 CBSE. आपके जन्म दिन पर आपके मामा जी ने आपको एक सुंदर उपहार भेजा है। इस उपहार के लिए धन्यवाद एवं कृतज्ञता व्यक्त कीजिए। जी० 501 सुंदर विहार नई दिल्ली दिनांक …… पूज्य मामा जी सादर प्रणाम मेरे जन्म दिन पर आपके द्वारा भेजा गया बधाई संदेश तथा एक सुंदर हाथ-घड़ी का उपहार मिला। आपके द्वारा भेजा गया यह उपहार मेरे सभी मित्रों एवं सहपाठियों को भी काफ़ी पसंद आया। मैं तो आशा कर रहा था कि इस बार आप मेरे जन्म-दिन पर स्वयं उपस्थित होकर मुझे स्नेह आशीर्वाद देंगे, परंतु किसी कारण आप न आ सके। जब आपको उपहार प्राप्त हुआ, तो मेरी सारी शिकायत दूर हो गई और आपके प्रति कृतज्ञता से भर गया। आपके द्वारा भेजा गया उपहार मुझे आपके स्नेह का स्मरण कराता रहेगा। इतने सुंदर उपहार के लिए मैं आपका कृतज्ञ हूँ। आदरणीय मामा जी को सादर प्रणाम, ओजस्व को स्नेह। आपका भानजा क ख ग 3. विद्यालय के मैदान में खेड़े दो छात्रों की बातचीत को अपने शब्दों में संवाद रूप में लिखिए। उत्तर- विद्यालय के खेल के मैदान में खड़े दो छात्र पंकज और मोहित के बीच संवाद- 4.

Next

Hindi Essays for Class 8: Top 10 Hindi Nibandhs

hindi anuched lekhan for class 8

मगरमच्छ और बन्दर का संवाद 5. अगर सरकार महँगाई पर नियंत्रण करना चाहती है तो तत्काल जिसों की जमाखोरी और कालाबाजारी पर रोक लगानी होगी। तब जाकर महँगाई पर नकेल लग सकती है।. के प्रधानाचार्य को पत्र लिखिए जिसमें ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश देने के लिए अनुरोध किया गया हो। सेवा में, प्रधानाचार्य महोदय, डी. If you have any query regarding CBSE Class 8 Hindi अनुच्छेद-लेखन, drop a comment below and we will get back to you at the earliest. Class 8 Hindi Grammar Chapter 31 पत्र लेखन Patr Lekhan. Our mission is to provide an online platform to help students to share essays in Hindi language.

Next

Anuched Lekhan in Hindi

hindi anuched lekhan for class 8

के ठिकानों को निशाना बना रही हैं। आतंकवाद के रूप में नारको आतंकवाद, साइबर आतंकवाद, आत्मघाती आतंकवाद एवं वैचारिक आतंकवाद भी पूरे विश्व में फैल चुका है। वर्तमान में भारत भी आतंक से पीड़ित है, वह भी अपने पड़ोसी देश द्वारा प्रायोजित आतंकवाद के कारण। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी आतंकवाद की भेंट चढ़ गईं। भारत की संसद पर आतंकी हमले हुए और देश की संप्रभुता को तहस-नहस करने का प्रयास किया गया। देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई बार-बार आतंकियों के निशाने पर रही है तो वहीं पंजाब और जम्मू-कश्मीर भी आतंक का दंश झेल रहे हैं। विशेषकर जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद का मुख्य शिकार बना हुआ है। आतंकवाद पैर पसारते-पसारते विश्व स्तर तक अपनी जड़ जमा चुका है। उसके तार आज विश्व स्तर पर फैले हैं। उसे सबसे ताकतवर, समृद्ध और सुरक्षा की दृष्टि से सशक्त माना जाता है। अमेरिका दूसरे देशों में पनपते हुए आतंक की खिल्ली उड़ाता था, आतंक से बेखबर अमेरिका के गगनचुंबी टावर जब धू-धू करके धरती में समा गए, तब उसके कान खड़े हुए। संपूर्ण अमेरिका काँप उठा। वहाँ के राष्ट्रपति ने हाथ उठाकर प्रतिज्ञा की कि आतंकी संगठन का मुखिया ओसामा बिन लादेन यदि चूहे के बिल में भी छिपा होगा, वहाँ से भी ढूंढ़ निकालेंगे। इस कारण अफगानिस्तान तहस-नहस हुआ, पाक में भी संदिग्ध स्थानों पर बम बरसाए, परंतु लादेन का अता-पता नहीं चला। लादेन ने अफगानिस्तान में रहते अपना अस्तित्व दिखाया। इसी तरह पाक में बैठकर ही मुंबई और दिल्ली में तहलका मचाया। इस तरह आतंकियों की अंतर्राष्ट्रीय शक्ति जोर पकड़ती जा रही है। इस तरह प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से विश्व के अनेक देश आतंक से प्रभावित हैं। लाइलाज होता हुआ आतंकवाद ऐसे ही प्रचार-प्रसार पाता गया तो देशों पर इनका साम्राज्य भी हो सकता है। आतंकी गुटों ने परमाणु केंद्रों पर अधिकार कर लिया तो बंदर के हाथ में गई तलवार सर्व विनाश का कारण बन सकती है। समय रहते राष्ट्रों ने एकजुट होकर आतंक के विरुद्ध इच्छाशक्ति नहीं दिखाई तो आतंकवाद अपना प्रभुत्व बढ़ाता जाएगा। उसके बाद चेतना आई तो बहुत देर हो गई होगी। आज खुद की बनाई गई कुल्हाड़ी अपने ही पैरों में गिरती हुई दिखाई दे रही है। कवि की निम्न पंक्तियाँ भारत में आतंक के बारे में सटीक ही हैं संसद पर जब चली गोलियाँ, भारत की आँख खुली रह जाय। हुए जवान शहीद भारत के, अफ़जल सुरक्षा दिया बढ़ाय। आँसू बहाए शहीद पत्नियाँ, अफ़जल निश्चित रहा हर्षाय। हुआ धमाका फिर मुंबई में, सोता भारत फिर-फिर जगजाय।। वर्तमान शिक्षा और भविष्य मानव जीवन में शिक्षा का विशेष महत्त्व है। शिक्षा ही वह आभूषण है जो मनुष्य को सभ्य एवं ज्ञानवान बनाता है, अन्यथा शिक्षा के बगैर मनुष्य को पशु के समान माना गया है। शिक्षा के महत्व को समझते हुए ही प्रायः शैक्षणिक गतिविधियों को वरीयता दी जाती है। भारत की वर्तमान शिक्षा प्रणाली स्कूल, कॉलेजों पर केंद्रित एक व्यवस्थित प्रणाली है। भारत की जो वर्तमान शिक्षा प्रणाली है, वह प्राचीन भारत की शिक्षा प्रणाली से मेल नहीं खाती है। भारत की वर्तमान शिक्षा प्रणाली का ढाँचा औपनिवेशिक है, जब कि प्राचीन भारत की शिक्षा प्रणाली गुरुकुल आधारित थी। वर्तमान शिक्षा प्रणाली एक संशोधित एवं अद्यतन शिक्षा प्रणाली तो है ही यह ज्ञान-विज्ञान के नए-नए विषयों को भी समाहित करती है। कंप्यूटर शिक्षा इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है जिसने मानव जीवन को सहज, सुंदर एवं सुविधाजनक बनाया है। इस शिक्षा प्रणाली के अंतर्गत देश में नए-नए विश्वविद्यालयों, कॉलेजों एवं स्कूलों की स्थापना की गई और यह प्रक्रिया अनवरत जारी है। इसमें शिक्षा का प्रचार-प्रसार बढ़ाने के साथ-साथ साक्षरता दर में भी बढ़ोतरी हुई है। वर्ष 2011 की जनगणना के आकड़ों के अनुसार इस समय देश की कुल साक्षरता दर 73. All the contents of Class 8 Hindi Vyakaran are in simplified language and updated for academic session 2022-2023. मैं इस उत्सव में सम्मिलित नहीं हो पाऊँगा। क्योंकि पिताजी घर पर नहीं हैं अतः मैं कहीं जा नहीं सकता। इस पत्र के साथ मैं एक छोटा-सा उपहार भेज रहा हूँ। आशा है तुम इसे अवश्य स्वीकार करोगे। मेरी बधाई एक बार फिर स्वीकार करो। अपने माताजी और पिताजी को मेरी तरफ से प्रणाम कहना। हार्दिक शुभकामनाओं सहित! भारतीय गाँव महात्मा गांधी का कहना था कि भारत की आत्मा गाँवों में बसती है। गाँवों की बात चलते ही हमारे मस्तिष्क में धूलभरी गलियाँ, घास-फूस की बनी झोंपड़ियाँ, उनके आस-पास अपनी क्रीड़ा में मग्न, धूल-धूसरित बच्चे, पेड़ों की घनी छाँव, लहलहाते खेत, चारों ओर पैफली हरियाली की चादर की छवि उभर आती है। यहाँ काम करनेवाले निश्छल स्वभाव के किसान, जी-तोड़ परिश्रम करके देशवासियों के लिए अन्न उपजाते हैं। इसके बावजूद यह अन्नदाता कहलाने वाला किसान अभावग्रस्त जीवन जीता है। कभी बाढ़, कभी सूखा उसके दुश्मन बन जाते हैं और उसके अरमानों का गला घोंटकर चले जाते हैं। ऐसी स्थिति में किसान गाँव के साहूकारों के चंगुल में पँफस जाता है और कर्श में ही दुनिया छोड़कर जाने को विवश हो जाता है। इध्र कुछ वर्षों से गाँवों में बिजली की व्यवस्था, उन्नतशील बीज, खाद, उपज का उचित मूल्य आदि हो जाने से किसानों की दशा में सुधर हुआ है। इसके अलावा पक्की सड़कें, सिंचाई के साधन, शिक्षा का विस्तार होने से अब गाँवों का कायाकल्प होने लगा है। 7. चरित्र प्रमाण पत्र के लिए प्रधानाचार्या को पत्र लिखिए। सेवा में, प्रधानाचार्या महोदया, दिल्ली पब्लिक स्कूल, नोएडा, गौतम बुद्ध नगर उ. राजीव के पिता जी हाथरस से स्थानांतरित होकर दिल्ली आ गए हैं। उनकी ओर से डी. अपने पिता जी को कुछ रुपए मंगवाने के लिए पत्र। पैरामाउंट छात्रावास सैक्टर-18, नोएडा उत्तर प्रदेश दिनांक ……….

Next

CBSE Class 8 Hindi निबंध

hindi anuched lekhan for class 8

का प्रयोग शुरू किया गया, सितंबर 2013 से ई. पूज्य पिता जी, सादर चरण-स्पर्श । आपके आशीर्वाद से मैं पूर्णतः स्वस्थ हूँ। मैं आशा करता हूँ कि आप भी सपरिवार सकुशल होंगे और ईश्वर से यही कामना करता हूँ। आपको यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता होगी कि मेरी वितीय सत्र की परीक्षा का परिणाम आ गया है। मुझे गणित तथा विज्ञान में शत-प्रतिशत अंक मिले हैं तथा शेष विषयों में 93 प्रतिशत अंकों के आधार पर मैं कक्षा में प्रथम आया हूँ। अप्रैल माह के प्रथम सप्ताह से मेरी नई कक्षा की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। मुझे नई किताबें, कापियाँ तथा हॉस्टल की फीस देने के लिए सात हजार रुपयों की जरूरत है। मुझे हॉस्टल की फ़ीस तथा पुस्तकों का कार्य 30 मार्च से पहले करना है, इसलिए शीघ्र पैसे भेजने का कष्ट करें। मेरी ओर से पूजनीय माता और चाची को सादर प्रणाम तथा दीदी को प्रणाम। आपका आज्ञाकारी पुत्र अक्षत कुमार 4. तुम्हारा मित्र, दीपक 108, ब्लॉक-एफ, विकास पुरी, 3 जनवरी, 20xx नई दिल्ली प्रिय अनुज, शुभाशीर्वाद आज तुम्हारा मित्र रोहित यहाँ आया था। उससे पता चला कि आजकल तुम बहुत आलस करने लगे हो। तुम सुबह बहुत देर से उठते हो। यह ठीक बात नहीं है। इससे तुम्हारे स्वास्थ्य एवं पढ़ाई दोनों पर असर पड़ सकता है। विद्यार्थी जीवन ही पूरी जिंदगी की आधारशिला होती है। शरीर का विशेष ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि स्वस्थ रहने पर ही तुम कुछ कर सकोगे। जो विद्यार्थी इस अवस्था में प्रतिदिन व्यायाम करने और प्रातः-भ्रमण करने की आदत डाल लेते हैं, वे जीवनभर नीरोग रहते हैं। प्रातः भ्रमण के तो लाभ-ही-लाभ हैं। इससे शरीर को स्वच्छ वायु मिलती है जिससे दिन भर ताजगी बनी रहती है। प्रातः काल की शीतल, मंद, सुगंधित वायु का सेवन शरीर में रक्त-संचार बढ़ाता है। इसके विपरीत जो प्रातः भ्रमण नहीं करते वे आलसी हो जाते हैं। उन्हें कई प्रकार के रोग लग जाते हैं। अतः प्रातः जल्दी उठकर भ्रमण का अभ्यास डालो। फिर तुम स्वयं उसके फायदे का अनुभव करोगे। आशा है, तुम मेरी सलाह मानोगे और प्रातः घूमने जाया करोगे। शेष मिलने पर। तुम्हारा शुभाकांक्षी, रमन सेवा में, तिथि- 5 मई, 20xx मुख्य डाकपाल महोदय, गोलडाकखाना, रामनगर विषय- डाकिए के विरुद्ध शिकायती पत्र मान्यवर, निवेदन यह है कि मैं रामनगर का निवासी आपके द्वारा इस क्षेत्र में नियुक्त डाकिए के विरुद्ध आपका ध्यान आकर्षित करवाना चाहता हूँ। वह न तो नियमित रूप से डाक लाता है और न ही ठीक समय पर बाँटता है। वह आते-जाते व्यक्ति को सारे मोहल्ले की डाक पकड़ाकर चला जाता है। इसके कारण कई बार आवश्यक पत्र भी समय पर नहीं मिल पाते हैं। मुझे कल ऐसा पत्र मिला, जिसे एक सप्ताह पहले मिल जाना चाहिए था। मेरे एक मित्र का मनीऑर्डर डाकिए के पास आ चुका है, परंतु वह दो दिन से आया नहीं है। यह उसके आलस का प्रमाण है। उसे मैंने कई बार समझाया पर उसके कानों पर जूं तक नहीं रेंगती। अतः आपसे प्रार्थना है कि इस डाकिए को बदलकर किसी अच्छे डाकिए को नियुक्त करने की कृपा करें। आपकी अतिकृपा होगी। भवदीय, सुरेश गर्ग पता-ए-7 कृष्णा नगर, दिल्ली सेवा में, 3 दिसंबर 20xx श्रीमान् प्रधानाध्यापक महोदय, आदर्श विद्या मंदिर, अंबाला महोदय, सेवा में विनम्र निवेदन है कि मैं कल अपने पिताजी के साथ मुंबई जा रहा हूँ। इसके कारण आगामी दस दिनों तक मैं अपनी कक्षा में उपस्थित नहीं हो सकूँगा। अतः श्रीमान् से प्रार्थना है कि दिनांक 04-12-20xx से 14-12-20xx तक मेरे अनुपस्थिति-दंड को माफ करें। इसके लिए मैं श्रीमान् का सदा आभारी रहूँगा। धन्यवाद आपका आज्ञाकारी शिष्य सुरेश सिंह कक्षा आठवीं, क्रमांक-3. मित्र के दादा जी के निधन पर उसे सांत्वना पत्र लिखिए। परीक्षा भवन नई दिल्ली दिनांक …. विषय — अंकुर विहार क्षेत्र में बढ़ते अपराधों के संबंध में मान्यवर इस पत्र के माध्यम से मैं आपका ध्यान अंकुर विहार क्षेत्र में बढ़ते जा रहे अपराधों तथा चोरियों की घटनाओं की ओर आकर्षित करना चाहता हूँ। पिछले कुछ दिनों से इस क्षेत्र में अपराधों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार, दिन दहाड़े चोरी की घटनाएँ, महिलाओं का पर्स या चेन झपट लेना जैसी घटनाओं के कारण आम नागरिक परेशान है। सबके मन में असुरक्षा का भय व्याप्त हो गया है। मान्यवर, आप जिस क्षेत्र से स्थानांतरित होकर इस थाने में आए हैं, वहाँ आपकी छवि एक कर्तव्यनिष्ठ एवं ईमानदार पुलिस अफ़सर के रूप में थी। इस क्षेत्र के निवासियों को पूर्ण विश्वास है कि आप शीघ्र ही अपराध वृत्ति की इन घटनाओं पर अंकुश लगाने में समर्थ होंगे। आपसे अनुरोध है कि आप रात्रि में गश्त बढ़ा दें तथा अपने अधीन कार्यरत पुलिसकर्मियों को अपराधियों से निपटने के लिए कड़े निर्देश दें। सधन्यवाद भवदीय आयुष रंजन अध्यक्ष, आर० ए० डब्ल्यू० अंकुर विहार अनौपचारिक पत्र 1.


Next

अनुच्छेद

hindi anuched lekhan for class 8

This website includes study notes, research papers, essays, articles and other allied information submitted by visitors like YOU. का गठन किया। आई. अपनी सखी को अपनी बड़ी बहन के विवाह पर आमंत्रित करते हुए पत्र। J-415 नेहरू नगर सोनीपत हरियाणा दिनांक……… प्रिय सखी कोमल मधुर स्मृति तुम्हें यह जानकर अति प्रसन्नता होगी कि मेरी बड़ी बहन नेहा दीदी का शुभ विवाह 10 फरवरी 20XX को होना निश्चित हुआ है। मेरी हार्दिक इच्छा है कि इस अवसर पर तुम भी यहाँ आ जाओ और कार्यक्रम में सम्मिलित हो। पत्र के साथ मैं कार्यक्रम संबंधी पूरी जानकारी भेज रही हूँ तथा एक निमंत्रण पत्र तुम्हारे माता-पिता के लिए भी संलग्न कर रही हूँ। मेरे माता-पिता की इच्छा है कि तुम्हारे माता-पिता भी इस अवसर पर पधारकर कृतार्थ करें। पत्र के उत्तर की प्रतीक्षा में। तुम्हारी सखी अंशु 5. If you have any query regarding CBSE Class 8 Hindi निबंध-लेखन, drop a comment below and we will get back to you at the earliest. मैं पर्यावरण रक्षक हूँ । प्रकृति से मनुष्य का अटूट संबंध रहा है। मानवीय विकास में प्रकृति की विशेष भूमिका रही है। मुझे इस बात की गंभीर चिंता रहती है कि यदि इसी प्रकार हम लोग पर्यावरण को नुकसान पहुँचाते रहे तो इस पृथ्वी की क्या होगा? ये परीक्षाएँ न होतीं, तो जीवन कितना सरल और सुखी होता। Anuched For Class 8 CBSE 5.

Next