Speech on yoga in hindi. योगा पर भाषण 2022-10-10

Speech on yoga in hindi Rating: 8,1/10 983 reviews

नमस्ते दोस्तों,

आज मैं आपके सामने योग के बारे में बात करने जा रहा हूँ। योग एक ऐसा अभ्यास है जो हमारी शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है। योग हमारे शरीर में शांति और संतुलन पैदा करता है, जो हमारी जीवनशैली में सुख और समृद्धि लाने में मदद करता है।

योग का अभ्यास हमारे शरीर के हर हिस्से को संभवत: प्रभावित करता है, जैसे हमारी मस्तिष्क, मोटापा, स्नानधारा, स्ट्रेच और स्थिति से जुड़ी समस्याएं। योग हमारी स्थिति को सुधारने में मदद करता है, जो हमारी स्थाई रूप से सुख और संतुल

International Yoga Day 2021 Speech, Quotes: योग दिवस पर यहां देखें स्पीच और निबंध लिखने के टिप्स

speech on yoga in hindi

So stop finding excuses and try to start practising it as soon as possible. So it is better to try performing it regularly for a better, peaceful and happy living. Yoga helps to improve flexibility. There are different types of yoga, so yoga should be practiced under the supervision of a yoga trainer. It breaks all the emotional and physical blockages that our body has and thus frees our body and mind. Before practising the art of delivering a speech the students must pen down the facts that they want to incorporate into their speech depending on the preference of the audience and the platforms where they will deliver the speech. It is an ancient practice involving the mind and the body for promoting the mental and physical well-being of individuals.

Next

योग पर निबंध

speech on yoga in hindi

Many physical postures that we follow while performing yoga are not done only to enhance the flexibility of our body, but also plays a vital role in relieving tensions and other sorrows. Is it the state of being free from all the physical inconveniences? वजन को कम करना- आज हमारे देश में बहुत से ऐसे लोग हैं जो मोटापे जैसी परेशानियों से जूझ रहे हैं वह किसी भी तरह से अपने मोटापे को कम करना चाहते हैं इसके लिए वह बाजार से बहुत सी दवाइयों का भी उपयोग करते हैं लेकिन ज्यादातर दवाइयों से कुछ समय तक ही मोटापा कंट्रोल होता है और आगे फिर वैसी ही परेशानी आने लगती है लेकिन अगर आप वास्तव में अपने वजन को कम करना चाहते हैं तो योग आपके लिए मुफ्त की औषधि है इसके जरिए आप वजन को कम कर सकते हैं. योग शरीर,आत्मा और मन मस्तिष्क के मिलन की एक ऐसी क्रिया होती है जो किसी भी समय की जा सकती है जिसको बच्चे,बूढ़े,नौजवान किसी भी वर्ग का व्यक्ति कर सकता है योग करने से हमारा शरीर पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है और हम हमारे जीवन की परेशानियों को खत्म कर पाते हैं चलिए पढ़ते हैं योग के महत्व को तनाव कम होना-योग करने से सबसे पहले हमें लाभ होता है हमारा तनाव कम होने में. This is what biologically happens when we focus on breathing while performing yoga. Endorphins are the hormones produced by the action of the pituitary gland and central nervous system. सुंदरता को बढ़ाने में- अक्सर हमारे चेहरे पर कील मुहासे फोड़ा फुंसी आदि होते रहते हैं इसके लिए हम तरह-तरह की क्रीम का उपयोग करते हैं और भी तरह-तरह के उपाय हम करते हैं लेकिन अगर आप नियमित रूप से योग करते हो तो वाकई में आपकी ये परेशानी पूरी तरह से खत्म हो सकती है क्योंकि योग से इन परेशानियों के साथ में आपका चेहरा खिल जाता है और आप सुंदर दिखते हो.

Next

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भाषण Speech on International Yoga Day in Hindi

speech on yoga in hindi

Today I will deliver a speech on the importance of yoga in our lives and the benefits one will experience when practicing on a daily basis. रक्त संचार- नियमित रूप से योग करने से आपका रक्त संचार बेहतर होता है जिससे शरीर के अंदरूनी अंग स्वस्थ रहते हैं और बहुत सी बीमारियां आने से पहले ही आप उसको खत्म कर सकते हैं. This year International Yoga Day is completing its 6 years in 2021. It can be considered as an amalgamated version of art and science that helps individuals to lead a tranquil and healthy lifestyle. As one is striving to straddle the world and achieve more success and wealth, yoga is one such practice that can center you and help you make healthy choices. Daily practice of yoga has so many added benefits, it improves your flexibility, posture, keeps the joints healthy, reduces blood pressure, controls obesity, reduces stress, and helps one live a peaceful life.

Next

योगा पर भाषण

speech on yoga in hindi

Focus on the points mentioned for long and short speeches on Yoga. Speech On Yoga In Hindi हम सभी जानते हैं कि योग इन दिनों अभ्यास का एक लोकप्रिय रूप बन गया है। आपके दरवाजे के बगल में लगभग हर कोई योग का अभ्यास कर रहा है और इसके लाभों पर चर्चा कर रहा है। असल में, मीडिया भी अपने दर्शकों को प्रबुद्ध करने में मदद के लिए योग-आधारित घटनाओं या सत्रों को व्यापक रूप से कवर कर रहा है। योगा पर हिंदी भाषण Speech On Yoga In Hindi सुप्रभात देवियों और सज्जनों! The art of speaking and communicating with the audience is a matter to learn and practice. Then most probably, it will be the image of an individual in white dress sitting peacefully on a yoga mat placed in the centre of a dark green lawn with dewdrops shining like gems in the pure yellow morning sunlight. Importance of yoga essay in hindi Importance of yoga essay in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Hindi essay on yog ka mahatva आप सभी के लिए बहुत ही हेल्पफुल है दोस्तों हमारी इस दुनिया में आज देखा जाए तो बहुत सी समस्याएं हैं हमारा वातावरण दिनोंदिन प्रदूषित हो रहा है हम सभी को चाहिए कि हम हमारे वातावरण को प्रदूषित होने से बचाएं क्योंकि इससे हमको बहुत नुकसान होता है हम बहुत सारी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं साथ में हम हमारे शरीर को भी स्वस्थ नहीं रख पाते. Health is wealth, so if you want to actually live a life wealthily you have to take care of your health. How To Write Yoga Day Speech योगदिवसकीशुरुआत 2015 मेंभारतकेप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीद्वाराकिएगएवास्तविकप्रयाससेहुईथी! Is health only related to our physical body? The main processes involved in yoga are meditation, physical movements, gestures, and some breathing techniques.


Next

योग का महत्व पर निबंध Importance of yoga essay in hindi

speech on yoga in hindi

Students should include the importance of yoga in building muscle strength and boosting metabolism that is especially important in order to make the organs function properly. Speech on Yoga in Hindi Language- योगा पर भाषण, स्पीच योगा पर भाषण- Speech on Yoga in Hindi माननीय अतिथि महोदय, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, समस्त अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे विद्यार्थियों को नमस्कार। मैं इस स्कूल का योगा शिक्षक हूँ और इस स्कूल में योगा क्लास को शुरू हुए एक साल पुरा हो चुका है और इस अवसर पर मैं आपके सामने योगा के विषय में जानकारी देना चाहता हूँ और आपको योगा के प्रति और भी जागरूक बनाना चाहता हूँ। हम सब जानते है कि हमारे लिए हमारा स्वास्थय सबसे बड़कर है क्योंकि स्वास्थय ही मनुष्य का सबसे बड़ा धन है। हमें स्वस्थ रखने का सबसे सरल, सस्ता और सटीक उपाय योगा है। योग से मनुष्य शारीरिक और मानसिक दोनों ही रूप से स्वस्थ रहता है। योगा के अंदर बहुत से आसन और व्यायाम होते हैं जो हमें विभिन्न रोगों से बचाए रखते हैं। योगा हमें स्वस्थ रखने के लिए सबसे उत्तम उपाय है। हम बच्चों के साथ यहाँ पर प्रतिदिन बहुक सी योगा जैसे सूर्य नमस्कार, कपालभाती आदि करते हैं। पिछले एक साल में बहुत से बच्चों ने योगा में भाग लिया और नियमित रूप से योगा को किया है। योगा एक ऐसी प्रक्रिया है जो स्वास्थय को बेहतर बनाने के लिए प्रयोग की जाती है। इससे हमारा स्वास्थय बेहतर रहता है, शरीर में फूर्ति आती है और शरीर में लचीलापन बढ़ जाता है। यह हमें एकाग्रचित होने में भी सहायता करता है और अध्यातमिकता को बढ़ाता है। यह व्यक्ति को सुंदर और बेडोल बनाए रखने में सहायक है। यदि योगा को ध्यान के साथ केंद्रित करके किता जाए तो हमारे ग्यान कौशल में वृद्धि होती है। योग करने से व्यक्ति का मन शांत रहता है और व्यक्ति प्रसन्न रहता है। योगा मन और मस्तिष्क को साथ लाने की प्रक्रिया है। इसे करने से ऊर्जा की प्राप्ती होती है और एकाग्रता शक्ति बढ़ती है। योगा कोई नई कसरत नहीं है अपितु यह पिछले 5000 वर्षों से प्रचलन में है। इस समय इसके 100 से ज्यादा प्रकार ग्यात है जिनमें से कुछ कठिन है को कुछ सरल है। हम सरल योगा को करके बहुत से रोगों से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं। योग रोग को दुर भगाते हैं और हमें खुशहाल जीवन देते है। योगा हमें बेहतर जीवन देने में सहायक है और यह प्रक्रिया निरंतर चलती रहती है। जितना अधिक कोई व्यक्ति इसे अपने जीवन में उतारता है और इसकी गहराई में जाता है उतना ही अच्छा परिणाम उन्हें मिलता है। योगा करने वाला व्यक्ति हमेशा नकारात्मक विचारों से दुर रहता है और हर बात पर सकारात्मक सोचता है। योगा करने से मानसिक रोग भी दुर होते है। योगा करने के लिए हमें केवल अपने और अपने स्वास्थय के लिए थोड़ा सा समय निकालने की आवश्यकता है। योगा हमारी दैनिक क्रियाओं को बेहतर बनाता है। हम रोज अपने आस पास बहुत से लोगों को योगा करते हुए देखते हैं और योगा के लिए बहुत से केंद्र भी खोले गए है। हम सबको भी अपने जीवन में योगा को अपनाना चाहिए और रोज सुबह योगा को करना चाहिए। आशा करता हूँ कि योगा से होने वाले लाभों के विषय में जानने को बाद आप सभी भी नियमित योगा का अभ्यास करेंगे। धन्यवाद। yoga speech in Hindi स्वामी विवेकानंद पर भाषण- Speech on Swami Vivekananda in Hindi महात्मा गाँधी पर भाषण- Speech on Mahatma Gandhi in Hindi महिला सशक्तिकरण पर भाषण- Speech on Women Empowerment in Hindi. योग पर भाषण — 3 सुप्रभात देवियों और सज्जनों! A lot of articles are already published on the website and the students can have a look at the different subject matters so that they can include valuable information in their speech. Yoga is usually practiced in the early mornings where one starts the day by paying respect to the Sun, by a series of 12 postures called Surya Namaskar or also called Sun Salutations. Depending on the age group of the audience they need to make a proper format of the speech before delivering it. These exercises include the limbs, the upper and lower body, and breathing. योग पर भाषण — १ सभी को सुप्रभात! So, many diseases and health conditions can be improved when one practices yoga which consists of various asanas or postures and breathing exercises as well which is called pranayama.

Next

Speech on Yoga

speech on yoga in hindi

Even though it is an age-old practice it is still relevant, it has gained more popularity in recent years even in the western world, and today more than ever people are in dire need of such a practice that will help them lead a life in peace and a stress-free manner. Speech on Yoga and Health — What Is Yoga? आज देखा जाए तो लोग इस आधुनिक युग में बहुत सी परेशानियों से जूझ रहे हैं जिनमें से तनाव एक ऐसी प्रॉब्लम है जिससे बहुत से नौजवान जूझते हैं तनाव किसी भी कारणवश हो सकता है हम इस तनाव में आकर हमारे जीवन की और भी बहुत सारी परेशानियों को अपने पास बुला सकते हैं जिससे जरूरी होता है कि हम तनाव को दूर करें. People worldwide are trying to learn yoga with the motive of enjoying a healthy life. Benefits of Yoga Performing yoga provides multiple benefits for individuals. दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Importance of yoga essay in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल Importance of yoga essay in hindi कैसा लगा अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब करना ना भूले. The bliss one experiences in nature are invaluable, this creates a sense of gratitude to nature and life.

Next

योग पर निबंध, योग का महत्व, योग और स्वास्थ्य: yoga essay in hindi, importance of yoga

speech on yoga in hindi

There are both physical and mental benefits. In this article, we are providing information about importance of Yoga in Hindi. Yoga will not only help you keep fit but also help you lead a better and healthy life. आज इस जमाने में बहुत से लोग होते हैं जो नकारात्मक सोचते हैं जिस वजह से जिंदगी में किसी भी काम में सफल होना बहुत मुश्किल होता है अगर आप अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं तो आपको चाहिए कि आप सकारात्मक बने और सकारात्मक बनने के लिए योग सबसे बेहतर है. Just like the human body requires pharmaceutical medicines for preventing or curing diseases, our mind requires the assistance of yoga for its healing processes. For getting good health results from yoga, it is essential to follow the perfect physical poses and breath control exercises.

Next

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भाषण (International Yoga Day Speech In Hindi 2021)

speech on yoga in hindi

Everyone can do yoga. We are gathered here today to learn about an ancient Indian practice which in the recent years has gained more popularity around the world as the world is navigating fitness and wellness. Yoga is beneficial for people of all ages, it builds your immune system. . नियमित योग करने वाले व्यक्तियों के लिए योग एक बहुत ही अच्छा अभ्यास है। यह स्वस्थ जीवन शैली तथा बेहतर जीवन जीने में हमारी काफी सहायता करता है। योग वह क्रिया है, जिसके अन्तर्गत शरीर के विभिन्न भागों को एक साथ लाकर शरीर, मस्तिष्क और आत्मा को सन्तुलित करने का कार्य किया जाता है। पहले समय में योग का अभ्यास ध्यान की क्रिया के साथ किया जाता था। योग सांस लेने के अभ्यास और शारीरिक क्रियाओं का जोड़ है। योग व्यवस्थित, वैज्ञानिक और परिणाम दोनों शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के सुधारों द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। योग पर छोटे तथा बड़े निबंध Short and Long Essay on Yoga in Hindi, Yog par Nibandh Hindi mein विश्व योग दिवस — निबंध 1 250 शब्द प्रस्तावना हम सभी के जीवन में योग काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह शरीर तथा मस्तिष्क के संबंधों में सन्तुलन बनाने में हमारी काफी सहायता करता है। यह एक प्राकर का व्यायाम है, इसके नियमित अभ्यास के द्वारा हम शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ रह सकते हैं। योग कला की उत्पत्ति प्रचीन भारत में हुई थी। पहले के समय में बौद्ध तथा हिन्दू धर्म से जुड़े लोग योग और ध्यान का प्रयोग करते थे। योग कई प्रकार के होते हैं जैसे- राज योग, जन योग, भक्ति योग, कर्म योग, हस्त योग। आमतौर पर हस्त योग के अन्तर्गत बहुत से आसनों का भारत में अभ्यास किया जाता है। अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस की घोषणा संयुक्त राष्ट्र की सामान्य सभा में 21 जून को भारत की पहल और सुझाव के बाद की गयी थी। योग में विभिन्न प्रकार के प्राणायाम और कपाल-भाति जैसी योग क्रियाएं शामिल हैं, जो सबसे ज्यादा प्रभावी सांस की क्रियाएं हैं। इनका नियमित अभ्यास करने से लोगों को सांस संबंधी समस्याओं और उच्च व निम्न रक्तदाब जैसी बीमारियों में आराम मिलता है। योग वो इलाज है, यदि इसका प्रतिदिन नियमित रुप से अभ्यास किया जाए, तो यह बीमारियों से धीरे-धीरे छुटकारा पाने में काफी सहायता करता है। यह हमारे शरीर में कई सारे सकारात्मक बदलाव लाता है और शरीर के अंगों की प्रक्रियाओं को भी नियमित करता है। विशेष प्रकार के योग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किए जाते हैं, इसलिए केवल आवश्यक और बताये गए योगों का ही अभ्यास करना चाहिए। निष्कर्ष हमारे देश भारत में भी योग अब बहुत प्रचलित हो गया है। योग करके हम अपने शरीर की अनेक बीमारियों को दूर कर सकते है। यह बीमारियाँ ही नहीं ठीक करता बल्कि यादाश्त, अवसाद, चिंता, डिप्रेशन, मोटापा, मनोविकारों को भी दूर भगाता है। योग से अनेक लाभ भी है। शरीर में रक्त प्रवाह बढ़ाने का योग से अच्छा कोई और तरीका नहीं हो सकता है। योग व इसके लाभ — निबंध 2 300 शब्द प्रस्तावना योग की उत्पत्ति प्राचीन समय में, योगियों द्वारा भारत में की गई थी। योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत के शब्द से हुई है, जिसके दो अर्थ हैं। एक अर्थ है जोड़ना और दूसरा अर्थ है अनुशासन। योग का अभ्यास हमें शरीर और मस्तिष्क के जुड़ाव द्वारा शरीर और मस्तिष्क के अनुशासन को सिखाता है। यह एक आध्यात्मिक अभ्यास है, जो शरीर और मस्तिष्क के संतुलन के साथ ही प्रकृति के करीब आने के लिए ध्यान के माध्यम से किया जाता है। यह पहले समय में, हिन्दू, बौद्ध और जैन धर्म के लोगों द्वारा किया जाता था। यह व्यायाम का ही एक अद्भुत प्रकार है, जो शरीर और मन को नियंत्रित करके जीवन को बेहतर बनाता है। योग हमेशा स्वस्थ जीवन जीने का एक विज्ञान है। यह एक दवा की तरह है, जो हमारे शरीर के अंगों के कार्यों करने के ढंग को नियमित करके हमें विभिन्न बीमारियों से बचाने का कार्य करता है। आंतरिक शांति योग हमारे शरीर में शांति बढ़ाने और हमारे सभी तनाव तथा समस्याओं मुक्ति दिलाने का कार्य करता है। योग और इसके लाभों के बारे में दुनिया भर के लोगों को जागरूक करने के लिए वार्षिक रुप से एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इसका अभ्यास लोगों के द्वारा किसी भी आयु में किया जा सकता है जैसे बचपन, किशोरावस्था, वयस्क या वृद्धावस्था। इसके लिए नियंत्रित तरीके से सांस लेने के साथ सुरक्षित, धीमे और नियंत्रित शारीरिक गतिविधियों की भी आवश्यकता होती है। वयस्कों और बच्चों की तुलना में वयस्कों की आयु में सबसे ज्यादा समस्याएं हैं। योग करने से शरीर में शांति का स्तर बढ़ जाता है जिसके कारण हमारे अंदर आत्मविश्वास भी जागृत होता है। निष्कर्ष वास्तव में योग वह क्रिया है, जो शरीर के अंगों की गतिविधियों और सांसों को नियंत्रित करता है। यह शरीर और मन, दोनों को प्रकृति से जोड़कर आन्तरिक और बाहरी ताकत को बढ़ावा देने का कार्य करता है। विभिन्न प्रकार के योग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किए जाते हैं, इसलिए केवल आवश्यक और सुझाये गए योगों का ही अभ्यास करना चाहिए। यह केवल एक शारीरिक क्रिया ही नहीं है, क्योंकि यह एक मनुष्य को मानसिक, भावनात्मक और आत्मिक विचारों पर नियंत्रण करने के योग्य भी बनाता है। दैनिक जीवन में योग से लाभ — निबंध 3 400 शब्द प्रस्तावना योग प्राचीन समय से मनुष्य को प्रकृति द्वारा दिया गया बहुत ही महत्वपूर्ण और अनमोल उपहार है, जो जीवन भर मनुष्य को प्रकृति के साथ जोड़कर रखता है। यह शरीर और मस्तिष्क के बीच सामंजस्य स्थापित करने के लिए, इन दोनों को संयुक्त करने का सबसे अच्छा अभ्यास है। यह एक व्यक्ति को सभी आयामों पर, जैसे शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और बौद्धिक स्तर पर नियंत्रण के द्वारा उच्च स्तर की संवेदनशीलता प्रदान करता है। स्कूल और कालेज में विद्यार्थियों की बेहतरी के साथ ही पढ़ाई पर उनकी एकाग्रता को बढ़ाने के लिए भी योग के दैनिक अभ्यास को बढ़ावा दिया जाता है। यह लोगों द्वारा किया जाने वाला व्यवस्थित प्रयास है, जो पूरे शरीर में उपस्थित सभी अलग-अलग प्राकृतिक तत्वों के अस्तित्व पर नियंत्रण करके व्यक्तित्व में सुधार लाने के लिए किया जाता है। दैनिक जीवन में योग योग के सभी आसनों से लाभ प्राप्त करने के लिए सुरक्षित और नियमित अभ्यास की आवश्यकता है। योग का अभ्यास आन्तरिक ऊर्जा को नियंत्रित करने के द्वारा शरीर और मस्तिष्क में आत्म-विकास के माध्यम से आत्मिक प्रगति को लाना है। योग के दौरान श्वसन क्रिया में ऑक्सीजन लेना और छोड़ना सबसे मुख्य वस्तु है। दैनिक जीवन में योग का अभ्यास करना हमें बहुत सी बीमारियों से बचाने के साथ ही कई सारी भयानक बीमारियों जैसे- कैंसर, मधुमेह डायबिटीज़ , उच्च व निम्न रक्त दाब, हृदय रोग, किडनी का खराब होना, लीवर का खराब होना, गले की समस्याओं तथा अन्य बहुत सी मानसिक बीमारियों से भी हमारी रक्षा करता है। स्वस्थ एक स्वस्थ व्यक्ति अपने जीवन में बहुत लाभ कमा सकता है और स्वस्थ्यपूर्ण जीवन जीने के लिए नियमित योग बहुत ही आवश्यक है। आज के आधुनिक जीवन में तनाव काफी बढ़ चुका है और आस-पास का पर्यावरण भी स्वच्छ नहीं है। बड़े शहरों में रहने वाले लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। बेहतर स्वस्थ का मतलब होता है बेहतर जीवन। आप 20-30 मिनट का योग करके अपने जीवन को काफी बेहतर बना सकते हैं क्योंकि रोज प्रातः उठकर योगाभ्यास करने से कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है। निष्कर्ष आजकल लोगों के जीवन को बेहतर करने के लिए फिर से योग का अभ्यास करने की आवश्यकता है। दैनिक जीवन में योग का अभ्यास शरीर को आन्तरिक और बाहरी ताकत प्रदान करता है। यह शरीर के प्रतिरोधी प्रणाली को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है, इस प्रकार यह विभिन्न और अलग-अलग बीमारियों से बचाव करता है। यदि योग को नियमित रुप से किया जाए तो यह दवाइयों का दूसरा विकल्प हो सकता है। यह प्रतिदिन खाई जाने वाली भारी दवाइयों के दुष्प्रभावों को भी कम करता है। प्राणायाम और कपाल-भाँति जैसे योगों को करने का सबसे अच्छा समय सुबह का समय है, क्योंकि यह शरीर और मन पर नियंत्रण करने के लिए बेहतर वातावरण प्रदान करता है। विश्व योग दिवस: योग से एकाग्रता की ओर — निबंध 4 600 शब्द प्रस्तावना बिना किसी समस्या के जीवन भर तंदुरुस्त रहने का सबसे अच्छा, सुरक्षित, आसान और स्वस्थ तरीका योग है। इसके लिए केवल शरीर के क्रियाकलापों और श्वास लेने के सही तरीकों का नियमित अभ्यास करने की आवश्यकता है। यह शरीर के तीन मुख्य तत्वों; शरीर, मस्तिष्क और आत्मा के बीच संपर्क को नियमित करता है। यह शरीर के सभी अंगों के कार्यकलाप को नियमित करता है और कुछ बुरी परिस्थितियों और अस्वास्थ्यकर जीवन-शैली के कारण शरीर और मस्तिष्क को परेशानियों से बचाव करता है। यह स्वास्थ्य, ज्ञान और आन्तरिक शान्ति को बनाए रखने में मदद करता है। अच्छे स्वास्थ्य प्रदान करने के द्वारा यह हमारी भौतिक आवश्यकताओं को पूरा करता है, ज्ञान के माध्यम से यह मानसिक आवश्यकताओं को पूरा करता है और आन्तरिक शान्ति के माध्यम से यह आत्मिक आवश्यकता को पूरा करता है, इस प्रकार यह हम सभी के बीच सामंजस्य बनाए रखने में भी मदद करता है। योग से एकाग्रता की ओर सुबह को योग का नियमित अभ्यास हमें अनगिनत शारीरिक और मानसिक बीमारियों से बचाने का कार्य करता पहै। योग के विभिन्न आसन मानसिक और शारीरिक मजबूती के साथ ही अच्छाई की भावना का निर्माण करते हैं। यह मानव मस्तिष्क को तेज करता है, बौद्धिक स्तर को सुधारता है और भावनाओं को स्थिर रखकर उच्च स्तर की एकाग्रता में मदद करता है। अच्छाई की भावना मनुष्य में सहायता की प्रकृति के निर्माण करती है और इस प्रकार, सामाजिक भलाई को बढ़ावा देती है। एकाग्रता के स्तर में सुधार ध्यान में मदद करता है और मस्तिष्क को आन्तरिक शान्ति प्रदान करता है। योग प्रयोग किया गया दर्शन है, जो नियमित अभ्यास के माध्यम से स्व-अनुशासन और आत्म जागरूकता को विकसित करता है। विश्व योग दिवस योग का अभ्यास किसी के भी द्वारा किया जा सकता है, क्योंकि आयु, धर्म या स्वस्थ परिस्थितियों परे है। यह अनुशासन और शक्ति की भावना में सुधार के साथ ही जीवन को बिना किसी शारीरिक और मानसिक समस्याओं के स्वस्थ जीवन का अवसर प्रदान करता है। पूरे संसार में इसके बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए, भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने, संयुक्त संघ की सामान्य बैठक में 21 जून को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के रुप में मनाने की घोषणा करने का सुझाव दिया था, ताकि सभी योग के बारे में जाने और इसके प्रयोग से लाभ लें। योग भारत की प्राचीन परम्परा है, जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी और योगियों के द्वारा तंदुरुस्त रहने और ध्यान करने के लिए इसका निरन्तर अभ्यास किया जाता है। निकट जीवन में योग के प्रयोग के लाभों को देखते हुए संयुक्त संघ की सभा ने 21 जून को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस के रुप में मनाने की घोषणा कर दी है। योग के प्रकार योग में कई तरह के होते हैं जैसे राजयोग, कर्म योग, ज्ञान योग, भक्ति योग और हठ योग। लेकिन जब ज्यादातर लोग भारत या विदेशों में योग के बारे में बात करते हैं, तो उनका आमतौर पर हठ योग होता है, जिसमें ताड़ासन, धनुषासन, भुजंगासन, कपालभांति और अनुलोम-विलोम जैसे कुछ व्यायाम शामिल होते हैं। योग पूरक या वैकल्पिक चिकित्सा की एक महत्वपूर्ण प्रणाली है। योग आपको लचीला बनाता है कुछ लोगों को अपने शरीर को इधर उधर झुकाने या अपने पैर की उंगलियों को झुकने या छूने में बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। एक बार जब कोई व्यक्ति नियमित आधार पर योग करना शुरू करता है, तो वे जल्द ही इसका प्रभाव महसूस करना शुरू कर देता है। यह जोड़ों में दर्द को हटाने में भी मदद करता है, जो कि ज्यादातर बड़े लोगों में एक आम बात है। ये लोगों को प्राकृतिक तरीकों से भी रोगों से मुक्ति दिलाता है जिससे मनुष्य अपने शरीर में काफी लचीलापन तथा फुर्ती महसूस करता है। निष्कर्ष हम योग से होने वाले लाभों की गणना नहीं कर सकते हैं, हम इसे केवल एक चमत्कार की तरह समझ सकते हैं, जिसे भगवान ने मानव प्रजाति को उपहार के रुप में प्रदान किया है। यह हमारी शारीरिक तंदुरुस्ती को बनाए रखता है, तनाव को कम करता है, भावनाओं को नियंत्रित रखते हुए नकारात्मक विचारों को भी नियंत्रित करता है। जिससे हममें भलाई की भावना, मानसिक शुद्धता, और आत्मविश्वास विकसित होता है। योग के अनगिनत लाभ हैं, हम यह कह सकते हैं कि योग मानवता को मिला हुआ एक ईश्वरीय वरदान है। Post navigation.

Next

Yoga In Hindi

speech on yoga in hindi

Practising yoga can have multiple benefits for the health of human beings. Short Speech on Yoga Good morning everyone, respected teachers, and my dear friends! The activities of yoga are helpful in making our life healthy. Learning and practising yoga is not expensive, and it is a very comfortable physical exercise. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भाषण Speech on International Yoga Day in Hindi : सभी आदरणीय श्रोताओं को सुप्रभात । आज मैं आप सभी के साथ विश्व योग दिवस पर अपने विचार साझा करना चाहता हूं । अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भाषण Speech on International Yoga Day in Hindi आप सभी जानते हैं कि । योग की मदद से हम कई सारे विकारों को दूर कर सकते हैं । योग हर व्यक्ति के लिए अनिवार्य है । अगर नियमित तौर पर , रोज सुबह उठकर योग का अभ्यास किया जाया करे , तो योग हर तरह के उपचार एवं चिकित्सा से ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है । आदरणीय श्रोताओं, आप सभी जानते हैं कि योग का महत्व जाने हुए हमें केवल कुछ ही साल हुए हैं, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि योग को जन्म लिए कुछ ही दिन हुए हों। योग कई सदियों पुराना है और प्राचीन काल के मनुष्यों द्वारा इसका नियमित तौर पर अभ्यास किया जाता था। आप सभी ने वेदों पुराणों और ग्रंथों में पढ़ा ही होगा कि प्राचीन लोग बहुत ही ज्यादा मजबूत और शक्तिशाली हुआ करते थे। ऐसा होने के कई कारणों में से एक योग भी है। योग शरीर के लिए फायदेमंद है , यह तो मैं आपको बता चुका हूं , लेकिन किस हद तक । क्या योग की शक्तियां सीमित हैं? Some of the popular types of yoga are Ashtanga yoga, Bikram yoga, Hatha yoga, Iyengar yoga, Kripalu yoga, Kundalini yoga, Power yoga, Sivananda, Viniyoga, and Prenatal yoga. Delivering a speech properly demands a lot of preparation procedures that include jotting down the main points and creating a rough manuscript. Why is the world now celebrating the International Day of Yoga in June every year? In simpler terms, we can define yoga as a physical activity for bridging the gap between the mind soul and the physical body.

Next